अलहसनैन इस्लामी नेटवर्क

इमामे अली नक़ी(अ)

इमाम नक़ी अलैहिस्सलाम

इमाम नक़ी अलैहिस्सलाम

हज़रत इमाम नक़ी अलैहिस्सलाम का जन्म सन् 212 हिजरी क़मरी मे ज़िल- हिज्जाह मास की (15) वी तिथि को पवित्र शहर मदीने मे हुआ था।

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी अ.स. के दौर के राजनीतिक हालात।

इमाम अली नक़ी अ.स. के दौर के राजनीतिक हालात। इमाम अली नक़ी अ. ने अपनी इमामत के 7 साल मोतसिम अब्बासी के दौर में गुज़ारे, इन वर्षों में इमाम की हर गतिविधि पर हुकूमत के जासूसों कि निगाहें थीं, और आपके पास आने जाने वाले लोगों पर रोक थी, यहाँ तक आपके घर के पास एक जासूस हर वक़्त मौजूद रहता,  

अधिक पढ़ें

हज़रत इमाम नक़ी (अ.स.) की इमामत

हज़रत इमाम नक़ी (अ.स.) की इमामत ऐ इस्माईल मेरे बाद अली नक़ी को अपना इमाम जानना और सब्र ज़ब्त से काम लेना।  

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम की शहादत

इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम की शहादत उनकी शहादत का समाचार मिलते ही बड़ी संख्या में लोग उनके घर पर एकत्रित हुए और पूरा नगर उनकी शहादत के शोक में डूब गया।

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी (अ.) की ज़िंदगी पर एक संक्षिप्त नज़र।

इमाम अली नक़ी (अ.) की ज़िंदगी पर एक संक्षिप्त नज़र। अली नक़ी (अ.) दानशीलता और स्वाभिमान में मशहूर थे और अनाथों के पालन पोषण और फक़ीरों की सहायता में प्रसिद्ध थे।

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी (अ.स.) और क़ालीन का शेर

इमाम अली नक़ी (अ.स.) और क़ालीन का शेर आपने शेरे क़ालीन को हुक्म दिया कि मुज्जसम हो कर इस काफि़रे अज़ली को निगल ले। शेर मुज्जसम हुआ और उसने बढ़ कर काफि़रे हिन्दी को मुसल्लम निगल लिया।  

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी (अ.स.) के करामात

 इमाम अली नक़ी (अ.स.) के करामात आपने जवाब में तहरीर फ़रमाया कि बाज़ लड़कियां लड़कों से बेहतर होती हैं , चुनांचे लड़की पैदा हुई।

अधिक पढ़ें

इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम की दुखद शहादत

इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम की दुखद शहादत ईश्वर का स्मरण और उसके अस्तित्व का ज्ञान पैग़म्बरे इस्लाम के ख़ानदान और उनके परिजनों की विशेषता है। हर व्यक्ति अपनी क्षमता के .............

अधिक पढ़ें

आपका कमेंन्टस

यूज़र कमेंन्टस

कमेन्ट्स नही है
*
*

अलहसनैन इस्लामी नेटवर्क